क्षेत्र के किसानों ने जी एस डामोर को बताएं अपनी खराब फसलों के हाल*

0

पेटलावद क्षेत्र में जहां कई किसानों की फसलें जिनमें मुख्य रुप से सोयाबीन की फसल है क्षेत्र के कई किसान अमीरगढ़, बरवेट, बावड़ी, पिठड़ी, बोलासा, सारंगी, बनी,झकनावदा,बिजोरी,कुम्भाखेडी आदि क्षेत्रों के कई किसान दर-दर भटक रहे हैं अपनी समस्याओं के लिए कोई जनप्रतिनिधि या अधिकारी उनकी सुनवाई नहीं कर रहा है क्षेत्र की लोकप्रिय विधायक कहने वाली सुश्री निर्मला भूरिया भी अपने विधानसभा क्षेत्र के किसानों की समस्या नहीं देख पा रही है और ना ही मौके पर जाने का किसी अधिकारी या पटवारी को बोल रही है जिससे क्षेत्र के कई किसान जनसुनवाई मैं झाबुआ कलेक्टर कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं कुछ दिनों पूर्व पेटलावद नगर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने भी किसानों ने अर्धनग्न प्रदर्शन कर अपनी पीड़ा बताई थी विधायक के सामने ही मुख्यमंत्री को बोला कि हमारी विधायक भी नहीं सुनती है इसके बाद मंच पर से शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को कहा था कि सर्वे करें और जिन जिन किसानों को फसल का नुकसान हुआ है उसकी रिपोर्ट तैयार करें लेकिन आदेश देने के बावजूद भी आज तक कोई भी अधिकारी मौका मुआयना करने के लिए नहीं पहुंचा इस बात को भी आज 8 दिन बीत गए हैं अब क्षेत्र के किसान अपनी समस्या किसको बताएं भाजपा के नेता जी एस डामोर कल अपने गृह क्षेत्र की ओर जा रहे थे कि रास्ते में किसानों ने रोक कर उनको अपनी समस्या बताएं कि हमारी कोई भी नहीं सुन रहा है और ना ही कोई अधिकारी मौका मुआयना देखने के लिए आ रहा है जिसके बाद श्री डामोर ने मुख्यमंत्री कार्यालय फोन लगाकर क्षेत्र के किसानों की समस्या बताई और कहा कि कमिश्नर/कलेक्टर को भेजकर पेटलावद विधानसभा क्षेत्र के किसानों की समस्या का तत्काल निराकरण करवाया जाए और किसानों को उनकी खराब हुई फसलों का आकलन कर उचित मुआवजा दिलवाने के निर्देश मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी किए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here